अलीनगर विधानसभा पर कर रहे हैं अलग-अलग दावेदारी

आदर्श आचार संहिता लागू होने के साथ ही होने वाली विधानसभा चुनाव की सरगर्मी बढ़ गई है।राजनीतिक दलों के बीच अलीनगर विधानसभा में अपनी दावेदारी को लेकर जोड़-तोड़ के साथ प्रबल दावेदारी को लेकर जिला से लेकर प्रदेश स्तर के नेतृत्व के सामने अपने दावेदारी प्रस्तुत करने में जुटे हुए हैं।एक तरफ जहां महागठबंधन से अब्दुल बारी सिद्दीकी का चुनाव लड़ना तय माना जा रहा है तो वही एनडीए में अब तक सीट को लेकर संशय बरकरार है। अलीनगर नगर विधानसभा सीट पर जहां भाजपा से दर्जनों कार्यकर्ता अपनी दावेदारी पेश करने की बात कर रहे हैं वही सहयोगी पार्टी जदयू भी अपनी पूरी क्षमता से इस सीट पर दावेदारी प्रस्तुत करने में कोई कोर कसर छोडना नहीं चाह रही है। जदयू कार्यकर्ता इसे अपनी झोली में डालकर वर्ष 2010 की जीत की पुनरावृत्ति करने पर अमादा है।जदयू कार्यकर्ताओं का मानना है कि पार्टी के झोली में यह सीट आती है तो जदयू का संगठन काफी मजबूत है और संगठन के बल पर जदयू यहां जीत का परचम लहरा सकती है। जदयू के अरुण झा संजय कुमार सरोज सिंह राम कुमार झा का मानना है कि जदयू प्रखंड अध्यक्ष अखिलेश सिंह के द्वारा जो संगठन का विस्तार एवं मजबूती प्रदान की गई है उसका फायदा पार्टी को मिल सकता है।युवा उम्मीदवारी के होने से पार्टी जीत को दोहरा सकती है।इन सब के बावजूद यह निर्भर करता है कि अलीनगर सीट आखिर एनडीए के किस सहयोगी दल के झोली में जाती है।अब सबकी नजर परदेस नेतृत्व पर टिकी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *